अपने निर्णय के चलते पार्टी पदाधिकारियों की नाराजगी का शिकार हो रही हैं मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष 

Spread the love

अपने निर्णय के चलते पार्टी पदाधिकारियों की नाराजगी का शिकार हो रही हैं मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष 

ऑगस्ट क्रांति समारोह में शामिल नहीं होने वाले तकरीबन 150 पदाधिकायों को वर्षा गायकवाड ने भेजा कारण बताओ नोटिस। कईओं ने पार्टी छोड़ने का बनाया मन

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – मुंबई कांग्रेस में पदाधिकारियों के बीच एक पत्र ने सनसनी मचा दी है। कांग्रेस ने 9 अगस्त को अगस्त क्रांति मैदान में आयोजित कार्यक्रम में शामिल नहीं होने वाले 150 से ज्यादा पदाधिकारियों को सीधे कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसमें कुछ जिला अध्यक्ष, वार्ड अध्यक्ष और विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्ष शामिल हैं। इस नोटिस से मुंबई कांग्रेस के पदाधिकारियों में काफी नाराजगी है और इसी के चलते कुछ पदाधिकारियों ने सीधे तौर पर पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देने की पेशकश की है।

हर साल 9 अगस्त को मुंबई कांग्रेस की ओर से अगस्त क्रांति मैदान में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, साथ ही तेजपाल हॉल में ध्वजारोहण का कार्यक्रम किया जाता है। इसी के तहत इस साल भी मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष वर्षा गायकवाड की अध्यक्षता में क्रांतिकारियों के स्मारक पर वंदन कर उन्हें श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम आयोजित किया गया, साथ ही ध्वजारोहण कार्यक्रम का आयोजन तेजपाल हॉल परिसर में किया गया जहां राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की स्थापना की गई थी। इस कार्यक्रम में मुंबई कांग्रेस के सभी जिला अध्यक्षों, वार्ड अध्यक्षों, विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों को आमंत्रित किया गया था। इसके अलावा इन कार्यक्रमों में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं को भी आमंत्रित किया गया था। इसके लिए सभी को बाकायदा पत्र एवं व्हाट्सएप मैसेज एवं फोन के माध्यम से सूचित किया गया,लेकिन उसके बाद भी कई पदाधिकारी इस कार्यक्रम से नदारद रहे।

मुंबई कांग्रेस ने कार्यक्रम में शामिल नहीं होने वाले तक़रीबन 150 पदाधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। यह नोटिस मुंबई कांग्रेस की अध्यक्ष वर्षा गायकवाड़ के हस्ताक्षर के साथ भेजा गया है और उन्होंने इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम में खुद और अपने जिले के कुछ नगरसेवकों, ब्लॉक अध्यक्षों और पदाधिकारियों की अनुपस्थिति की पुष्टि की है। हालांकि इस नोटिस में लिखा है कि आप अपनी अनुपस्थिति पर समाधान करें। पदाधिकारियों को जारी किए गए इस नोटिस से मुंबई कांग्रेस में नाराजगी फैल गई है। सूत्रों से पता चला है कि इस नोटिस के खिलाफ कुछ पदाधिकारियों ने सीधे तौर पर पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देने का निर्णय लिया है।

कांग्रेस की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र प्रदेश कार्यकारिणी के कई पदाधिकारियों को भी आमंत्रित किया गया था। इनमें से कई क्षेत्रीय कार्यकारिणी के सदस्य भी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए। लेकिन उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई, कुछ पदाधिकारियों ने सवाल उठाया है कि सिर्फ मुंबई कांग्रेस के पदाधिकारियों को ही कारण बताओ नोटिस क्यों?

हर साल होने वाले इस कार्यक्रम में मुंबई कांग्रेस समेत राज्य के कई बड़े नेता शामिल होते हैं और शीर्ष नेतृत्व भी अनुपस्थित रहता है। हालांकि इस साल इस कार्यक्रम में कई बड़े नेता शामिल नहीं हुए, लेकिन इनमें से किसी के भी ख़िलाफ़ ऐसी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इससे मुंबई कांग्रेस के आम कार्यकर्ताओं में काफी नाराजगी है और इस नाराजगी को दूर करना अब मुंबई कांग्रेस के सामने एक बड़ी चुनौती होने जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon