बगावत के 14 दिन बाद अजित पवार खेमा, शरद पवार के चरणों में 

बगावत के 14 दिन बाद अजित पवार खेमा, शरद पवार के चरणों में

मुलाकात के राजनितिक मायने ढूंढ़ने में जुटे रणनीतिकार 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – उपमुख्यमंत्री अजित पवार और उनके गुट के सभी विधायकों ने रविवार को शरद पवार से मुलाक़ात की। यह मुलाकात यशवंतराव चह्वाण सेंटर में हुई। मुलाकात के बाद अजित पवार गुट वाली राकांपा के नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि हमने पैर पकड़कर शरद पवार जी का आशीर्वाद लिया।

प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि हमने उनसे विनती की कि राकांपा पार्टी साथ रहे और मजबूती से आगे बढ़े, इस बारे में विचार करें। उन्होंने हमें कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी, हां उन्होंने शांत होकर हमारी बातें जरूर सुनीं।

शरद पवार से मुलाकात के बाद प्रफुल्ल पटेल ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि हमें जानकारी मिली थी कि शरद पवार साहब यहां मौजूद हैं, तो हम बिना उन्हें सूचित किए यहां आ गए। एकनाथ शिंदे सरकार में शामिल होने के बाद शरद पवार और अजित पवार के नेतृत्व वाले गुटों की यह पहली मुलाकात है।

शरद पवार गुट के नेता जयंत पाटिल ने कहा कि मुझे सुप्रिया सुले का फोन आया था। उन्होंने मुझसे जल्दी यशवंतराव चह्वाण सेंटर पहुंचने को कहा। मुझे नहीं पता कि अजित पवार और अन्य विधायक यहां क्यों आए हैं।

इससे पहले 14 जुलाई को महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने राकांपा प्रमुख शरद पवार से उनके घर पर मुलाकात की थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अजित अपनी चाची प्रतिभा पवार – शरद पवार की पत्नी से मिलने गए थे, जिन्हें एक सर्जरी के बाद 14 जुलाई को अस्पताल से छुट्टी मिली थी।

शिवसेना के 9 मंत्रियों को विभाग मिले उधर, शुक्रवार को महाराष्ट्र की शिंदे सरकार में शामिल हुए राकांपा के 9 मंत्रियों को विभागों का बंटवारा किया गया। उपमुख्यमंत्री अजित पवार को वित्त और योजना विभाग का मंत्री बनाया गया है। छगन भुजबल को खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग सौंपा गया। अजित पवार सहित राकांपा के 9 विधायकों को जो विभाग दिए गए हैं, वो पहले भाजपा के 6 और शिवसेना शिंदे गुट के 4 विधायकों के पास थे। जिनसे ये विभाग वापस लिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Right Menu Icon
%d bloggers like this: