धोखाधड़ी करने वाले 2 शातिर आरोपी क्राइम ब्रांच युनिट 3 ‘विरार’ ने गिरफ्तार किया

धोखाधड़ी करने वाले 2 शातिर आरोपी क्राइम ब्रांच युनिट 3 ‘विरार’ ने गिरफ्तार किया

अजहर शेख : संवाददाता 

वसई : बातों में उलझाकर ठगी करने वाले शातिर महाठग को क्राइम ब्रांच युनिट 3 की टीम ने गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। ठगों के पास से 10 लाख रुपये का आभूषण व 8 अपराधों का खुलासा हुआ है। यह कार्रवाई क्राइम डीसीपी अविनाश अंबुरे व एसीपी अमोल मांडवे के मार्गदर्शन में युनिट 3 पी.आई.प्रमोद बडाख के नेतृत्व में पो.उप निरी.अभिजित टेलर, उमेश भागवत, पो.हवा.अशोक पाटील, मनोज चव्हाण, मुकेश तटकरे, सचिन घेरे, सागर बारवकर व मनोज सकपाल की टीम ने की है। सोमवार को पुलिस ने बताया कि 19 अगस्त 2023 प्रातः11.30 बजे, साईंबाबा मंदिर के सामने फूलपाड़ा विरार पूर्व स्थित दो अज्ञात आरोपी ने आपस में षडयंत्र रचकर व्यवसाय सेवानिवृत्त 65 वर्ष के शिकायतकर्ता से बात की, उनमें से एक ने शिकायतकर्ता के पैरों पर गिरकर पूछा,”क्या आप चाय पीते हैं?” उस समय शिकायतकर्ता ने उनसे कहा कि मैं नहीं जानता कि तुम कौन हो, जब उन्होंने शिकायतकर्ता की जेब में हाथ डाला तो उनमें से एक ने शिकायतकर्ता के गले से सोने की चेन निकाल ली और शिकायतकर्ता के साथ धोखाधड़ी की। शिकायतकर्ता ने विरार थाने में अज्ञात ठग के खिलाफ कलम 420,34 के तहत एफआईआर दर्ज करवाया था। पुलिस के मुताबिक, पिछले कुछ महीनों से मीरा भाईदर वसई विरार पुलिस आयुक्तालय क्षेत्र में दिखावा/धोखाधड़ी में वृद्धि के कारण, वरिष्ठ अधिकारियों ने उक्त घटनाओं को गंभीरता से लिया है और आरोपियों का पता लगाने और उन्हें रोकने के निर्देश दिए हैं।पुलिस उपायुक्त अपराध, सहायक पुलिस आयुक्त अपराध द्वारा दिये गये निर्देश एवं आदेशानुसार उक्त अपराध की युनिट -3 को सौंपी गयी। अपराध का तकनीकी विश्लेषण और गुप्त मुखबिरों से जानकारी प्राप्त कर आरोपी (1).रमेश ऊर्फ रम्या विजयकुमार जैसवाल (46) व (2).विशाल ऊर्फ बल्ला ऊर्फ बाळू विष्णू कश्यप (28) को हिरासत मे लिया। हिरासत में लेने और जांच करने पर पता चला कि वह उक्त अपराध में शामिल था और उसे उक्त अपराध में गिरफ्तार किया गया।पुलिस हिरासत में आरोपी के पास से 10,00,000 रुपये के साथ-साथ आरोपी द्वारा ठगे गए 166 ग्राम सोने के आभूषण और अन्य सामान जब्त कर लिया गया। एमबीवीवी पुलिस आयुक्तालय, मुंबई शहर पुलिस आयुक्तालय, ठाणे शहर पुलिस आयुक्तालय अंतर्गत 8 गुन्हा का खुलासा हुआ है। पुलिस के अनुसार, आरोपी के पिछले इतिहास की जांच करने के बाद, उक्त आरोपी के खिलाफ मुंबई, ठाणे शहर, मीरा भाईंदर वसई विरार आयुक्तालय में 50 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं और इस मामले में आरोपी विरार पुलिस स्टेशन केस रजिस्ट्रेशन नंबर 814 /2023 कलम 420,34 के तहत दर्ज केस में पुलिस हिरासत में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Right Menu Icon
%d bloggers like this: