आनंद आश्रम अब आनंद आश्रम नहीं रहा, यह सत्ता के लालची और झूठों का अड्डा बनकर रह गया है – केदार दिघे 

Spread the love

आनंद आश्रम अब आनंद आश्रम नहीं रहा, यह सत्ता के लालची और झूठों का अड्डा बनकर रह गया है – केदार दिघे 

संजय सिरसाट को केदार दिघे का दो टूक जवाब। दिवंगत आनंद दिघे की मृत्यु को लेकर केवल भ्रम फैला रहा है शिंदे गुट

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

ठाणे – दिवंगत शिवसेना नेता धर्मवीर आनंद दिघे की मृत्यु के बाद उनके अंतिम संस्कार में उद्धव ठाकरे के परिवार का कोई भी व्यक्ति मौजूद क्यों नहीं था? शिंदे गुट के विधायक संजय शिरसाट ने यह सवाल उठाया तो ठाकरे गुट के ठाणे जिला प्रमुख केदार दिघे और धर्मवीर आनंद दिघे के भतीजे केदार दिघे ने शिरसाट पर हल्ला बोलते हुए मीडिया को एक तस्वीर दिखाई जिसमें साफ देखा जा सकता है कि आनंद दिघे के अंतिम संस्कार में उद्धव ठाकरे मौजूद हैं। केदार दिघे ने इस बात पर भी चिंता व्यक्त की है कि आनंद आश्रम अब आनंद आश्रम नहीं रहा।

दिवंगत शिवसेना नेता धर्मवीर आनंद दिघे के निधन के बाद उनके अंतिम संस्कार में उद्धव ठाकरे के परिवार का कोई भी व्यक्ति मौजूद क्यों नहीं था? यह सवाल शिंदे गुट के विधायक संजय शिरसाट ने पूछा था। इस आरोप के बाद ठाकरे गुट के ठाणे जिला प्रमुख केदार दिघे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शिंदे गुट पर जमकर हमला बोला और कहा कि आनंद दिघे की मौत को लेकर शिंदे गुट द्वारा भ्रम फैलाया जा रहा है। आनंद दिघे के अंतिम संस्कार में उद्धव ठाकरे आए थे, यह कहते हुए उन्होंने मीडिया के सामने तस्वीर दिखाई। दिघे ने यह भी आरोप लगाया कि जब कैबिनेट में जगह नहीं मिली तो सिरसाट इस तरह के उलजुलूल बयान दे रहे हैं ताकि शायद उन्हें मंत्री पद मिल जाये।

टेंभीनाका के आनंद आश्रम में आनंद दिघे की प्रतिमा के सामने शिंदे गुट के प्रवक्ता नरेश म्हस्के जूते पहने हुए थे। केदार दिघे ने यह भी कहा कि आनंद आश्रम अब आनंद आश्रम नहीं रहा। वह केवल झूठे और सत्ता के लालची लोगों का कार्यालय बन कर रह गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon