मूसलाधार बरसात के बावजूद प्यासी रहेगी मुंबई

Spread the love

मूसलाधार बरसात के बावजूद प्यासी रहेगी मुंबई

पानी आपूर्ति करने वाली झीलों के गिरते जलस्तर और देर से शुरू हुए मानसून के चलते मनपा आयुक्त का फैसला। 1 जुलाई से मुंबईकरों को झेलनी पड़ेगी 10 प्रतिशत पानी कटौती 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई : मुंबई में बारिश ने जोरदार दस्तक दे दी है और बांधों में पानी का स्तर धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। हालांकि इसके बावजूद मुंबई में 1 जुलाई से पानी कटौती लागू करने का फैसला लिया गया है। जल विभाग ने बांधों में पानी का भंडार कम होने के कारण मुंबई में 10 प्रतिशत पानी की कटौती लागू करने के लिए मुंबई महानगर पालिका आयुक्त को एक प्रस्ताव भेजा था, माना जा रहा है कि इसे मंजूरी मिल गयी है।

मुंबई शहर को पानी की आपूर्ति करने वाले सभी सात बांधों में 12.57 प्रतिशत का रिजर्व वाटर स्टॉक है। पिछले आठ दिनों से बारिश शुरू हो गई है और अब बारिश ने काफी जोर पकड़ लिया है, इससे बांध में पानी का स्तर धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। हालाँकि, जून के तीसरे सप्ताह तक बारिश नहीं होने के कारण जल भंडारण बहुत कम हो गया था। इसलिए अपर आयुक्त पी. वेलरासु ने बताया कि जलदाय विभाग ने पानी कटौती के फैसले का प्रस्ताव आयुक्त को मंजूरी के लिए भेज दिया है। इस बीच सूत्रों ने बताया कि प्रस्ताव को मंजूरी मिल गयी है |

वर्तमान में मुंबई को पानी की आपूर्ति करने वाले सभी सात बांधों उर्धवा वैतरणा, मोडक सागर, तानसा, मध्य वैतरणा, भातसा, विहार, तुलसी में 12.57 प्रतिशत पानी आरक्षित है। सभी सात बांधों में 1 लाख 5 हजार लीटर पानी का भंडारण है, जबकि उर्धवा वैतरणा बांध से 75 हजार मिलियन लीटर और भतसा बांध से 75 हजार मिलियन लीटर यानी कुल 1 लाख 50 हजार मिलियन लीटर पानी रिज़र्व स्टॉक से लिया गया है, जिससे 2 लाख मिलियन लीटर पानी उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon