एमपीएससी टॉपर दर्शना पवार का हत्यारा मुंबई से गिरफ्तार

Spread the love

एमपीएससी टॉपर दर्शना पवार का हत्यारा मुंबई से गिरफ्तार

परिवार वालों ने कहा उसे फांसी दी जानी चाहिए, या हमारे हवाले करें। हम अपनी बेटी को इंसाफ दिलाना चाहते हैं

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई : एमपीएससी टॉपर दर्शना पवार की हत्या के मामले में पुलिस ने आखिरकार उसके दोस्त राहुल हंडोरे को गिरफ्तार कर लिया है। इसके बाद दर्शना पवार के भाई अभिषेक पवार ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि राहुल हंडोरे ने मेरी बहन को मार डाला, हत्यारे को हमें सौंप दो या मार डालो।

राहुल हंडोरे को हमें सौंप दो या उसे मार डालो। उसे जिंदा नहीं छोड़ा जाना चाहिए, उसे मर ही जाना चाहिए। मेरी बहन ने उसकी वजह से बहुत कष्ट सहा है, उसके साथ बड़ा घात हुआ |अगर वह मरा नहीं है, तो उसे हमें सौंप दो, बस हम सब सरकार से यही विनती करते हैं। दर्शना पवार के भाई अभिषेक पवार ने कुछ इन शब्दों में अपना गुस्सा व्यक्त किया है।

चार दिन पहले राजगढ़ किले की तलहटी में दर्शना का छत -विछत शव मिला था। अलग-अलग राज्यों में घूम रहे हत्यारे राहुल को आखिरकार मुंबई में गिरफ्तार कर लिया गया। पुणे ग्रामीण पुलिस ने राहुल को हिरासत में लेकर गिरफ्तारी की प्रक्रिया पूर्ण की। दर्शना की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से साफ हो गया था कि उसकी हत्या की गई है। खबर यह भी है कि राहुल ने दर्शना की हत्या की बात कबूल कर ली है।

दर्शना की माँ सुनंदा पवार ने कहा कि जिस तरह से मेरी बेटी के टुकड़े-टुकड़े कर दिए गए, उसी तरह से उसके हत्यारे के भी करने दो… मैं अपनी बेटी को न्याय देना चाहती हूं और दे सकती हूं… जैसे मेरी बेटी के साथ हुआ, वैसा दूसरी बेटियों के साथ मत होने दो।

दर्शना पवार और राहुल हंडोरे एक दूसरे के दूर के रिश्तेदार थे, इसलिए वे एक-दूसरे को कई सालों से जानते थे। राहुल दर्शना से शादी करना चाहता था, लेकिन दोनों आपस में रिश्तेदार होने के कारण पवार परिवार इस शादी के खिलाफ था। पवार परिवार ने दर्शाना की शादी कहीं और तय कर दी थी। दर्शना ने हाल ही में महाराष्ट्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा तीसरी रैंक के साथ उत्तीर्ण की है। उधर, राहुल परीक्षा में फेल हो गया था। प्राथमिक संदेह है कि परिवार द्वारा शादी का विरोध करने से नाराज होकर राहुल ने दर्शना की हत्या कर दी।

दर्शना ने राज्य लोक सेवा आयोग (एमपीएससी) की परीक्षा राज्य में तीसरी रैंक के साथ उत्तीर्ण की थी। उन्हें वन रेंज अधिकारी के रूप में भी चुना गया था। पुणे की एक संस्था ने उन्हें सम्मानित किया। वह 9 जून को पुणे आई थीं। वह नरहें इलाके में एक दोस्त के साथ रह रही थी। वह अपनी सहेली से यह कहकर घर से निकली थी कि वह 12 जून को सिंहगढ़ जाना चाहती है।

दर्शना ने इसकी जानकारी परिवार को भी दी थी कि उसके साथ दोस्त राहुल हंडोरे भी है। 12 जून को जब उसके परिवार ने उससे संपर्क किया, तो उन्होंने पाया कि उसका मोबाइल बंद था। इसके बाद परिजनों ने खोजबीन शुरू की। हालाँकि, उसका परिवार चिंतित था क्योंकि उसका पता नहीं चल पाया था। उन्होंने सिंहगढ़ रोड पुलिस को दर्शना के लापता होने की सूचना दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon