मानपाड़ा पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शेखर बागड़े के खिलाफ डोंबिवली भाजपा की मांग है की बेनामी संपत्तियों की ईडी, सीबीआयी और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो करे जाँच

Spread the love

मानपाड़ा पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शेखर बागड़े के खिलाफ डोंबिवली भाजपा की मांग है की बेनामी संपत्तियों की ईडी, सीबीआयी और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो करे जाँच

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

डोंबिवली – भाजपा नेताओं ने रविवार को मांग की कि डोंबिवली के मानपाड़ा पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शेखर बागड़े की बेनामी संपत्तियों की जांच प्रवर्तन निदेशालय और केंद्रीय जांच विभाग से कराई जाए। साथ ही एंटी करप्शन ब्यूरो से भी बागड़े के खिलाफ शिकायत की गई है। डोंबिवली में भाजपा पूर्वी मंडल के अध्यक्ष नंदू जोशी के खिलाफ राजनीतिक दबाव में छेड़खानी का मुकदमा दर्ज कराने की पहल के चलते, डोंबिवली में पिछले सप्ताह से भाजपा बनाम बागड़े विवाद चरम पर है। जिले में शिवसेना के एक नेता के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बागड़े खास समर्थक माने जाते हैं। इसको लेकर शिवसेना और भाजपा के बीच इस मौके पर विवाद भी हुआ है।

जोशी के खिलाफ मामला दर्ज कर बागड़े को अनिवार्य अवकाश पर भेज दिया गया है। भाजपा बागड़े के खिलाफ आक्रामक हो गई है क्योंकि उन पर आरोप है कि शिवसेना नेता के दबाव के चलते झूठा मामला दायर किया और भाजपा और उसके पदाधिकारियों को बदनाम किया गया। भाजपा पदाधिकारियों ने डोंबिवली पूर्वी मंडल भाजपा में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शेखर बागड़े और उनके परिवार की लगभग 50 से 60 करोड़ की बेनामी संपत्ति का मीडिया के सामने रविवार को खुलासा किया। भाजपा के प्रदेश सचिव गुलाबराव करंजुले ने और संपत्ति होने की संभावना जताई है।

भाजपा नेताओं ने कहा कि बागड़े और उनके परिवार की नासिक, सिन्नर, नवी मुंबई, ठाणे, इगतपुरी, देवलाली में संपत्तियां हैं। हम मांग करेंगे कि ईडी, सीबीआई और भ्रष्टाचार निरोधक विभाग इस मामले की जांच रोकथाम अधिनियम और वित्तीय दुर्विनियोग अधिनियम के तहत करें। करंजुल ने बताया कि अगर ऐसे मामलों का निपटारा नहीं किया गया तो हर पुलिस अधिकारी फरियादी की जेब पर डाका डालेगा। करंजुले ने कहा कि ऐसे मामलों की जांच जरूरी है।

करंजुले ने बताया कि हमने बागड़े की बेनामी संपत्ति की जानकारी जांच एजेंसियों को दे दी है। जांच एजेंसियों ने हमें यह जानकारी निर्धारित प्रपत्रों में प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। बागड़े के खिलाफ सौ से अधिक शिकायतें वरिष्ठों के पास दर्ज की गई हैं। करंजुले ने बताया कि राजनीतिक दबाव के कारण इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। बागड़े की जाँच का मुद्दा उठाकर भाजपा नेताओं ने जिले में शिवसेना के एक नेता को घेरने की कवायद शुरू कर दी है। इस पत्रकार वार्ता में भाजपा जिलाध्यक्ष शशिकांत कांबले, पूर्व विधायक नरेंद्र पवार, पूर्व पार्षद राहुल दामले, कल्याण ग्रामीण मंडल अध्यक्ष नंदू परब मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon