दर्शन सोलंकी आत्महत्या मामलें में मुंबई पुलिस ने दाखिल किया चार्जशीट 

Spread the love

दर्शन सोलंकी आत्महत्या मामलें में मुंबई पुलिस ने दाखिल किया चार्जशीट 

माँ और बहन के बयान में जाती आधारित टिप्पणी का उल्लेख। इसके अलावा कई छात्रों और प्रोफेसर समेत कुल 55 गवाहों के बयान दर्ज

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – IIT-बॉम्बे के स्टूडेंट दर्शन सोलंकी सुसाइड केस में मुंबई पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट में चार्जशीट दायर की। चार्जशीट में दर्शन की मां और बहन के बयान शामिल हैं। जिसमें उनका दावा है कि दर्शन ने उन्हें सुसाइड के कुछ दिन पहले फोन करके बताया था कि उसके साथ जाति आधारित भेदभाव होता है।

जब दोस्तों को उसकी जाति के बारे में पता चला तो उनका व्यवहार बदल गया। चार्जशीट में दर्शन के दोस्त अरमान खत्री का भी नाम है। जिसे दर्शन को सुसाइड के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया था। फिलहाल वह जमानत पर बाहर है। पुलिस का दावा है कि सोलंकी ने अरमान से उसके धर्म के बारे में आपत्तिजनक बातें कहीं थीं। इसे लेकर अरमान ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। इसके अलावा चार्जशीट में कई स्टूडेंट्स और प्रोफेसर्स समेत 55 गवाहों के बयान शामिल हैं।

चार्जशीट में कहा गया है कि जनवरी 2023 में छुट्टी के दौरान सोलंकी ने बहन से फिर इस बारे में बात की थी। इसके बाद 12 फरवरी को उसने दोपहर करीब 12 बजकर 20 मिनट पर अपनी मां से फोन पर बात की और कहा कि वह 14 फरवरी को घर आएगा। उन्हें अपने सभी रिश्तेदारों को मिलने के लिए बुलाना चाहिए। इसके दो घंटे बाद ही उसके पिता के पास बेटे की मौत के खबर का फोन आ गया।

दर्शन ने अपनी बहन और चाची को बताया था कि कुछ स्टूडेंट हमेशा उससे कहते थे कि वह मुफ्त में पढ़ रहा है। इसे लेकर उसे ताना मारते थे।

केस में गिरफ्तार आरोपी अरमान खत्री को 22 दिन पहले कोर्ट ने जमानत दे दी थी। मुंबई की स्पेशल कोर्ट ने कहा था कि इस बात के कोई सबूत नहीं हैं कि सोलंकी को जातिगत भेदभाव के आधार पर परेशान किया गया था या उसे आत्महत्या के लिए उकसाया गया।

इसके साथ ही कोर्ट ने कहा था कि सुसाइड नोट में लगाए गए आरोप इस बात का फैसला लेने और सजा देने के लिए काफी नहीं हैं कि खत्री ने दर्शन को आत्महत्या करने के लिए उकसाया था। दरअसल खत्री को 9 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। जस्टिस ए.पी. कानाडे ने शनिवार यानी 6 मई को खत्री को जमानत दी थी।

12 फरवरी को IIT मुंबई में 18 साल के दर्शन सोलंकी नाम के स्टूडेंट ने कैंपस में बने हॉस्टल की सातवीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। वह गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला था। करीब तीन हफ्ते बाद मुंबई पुलिस को दर्शन सोलंकी के कमरे से एक लाइन का नोट मिला था, जिसमें लिखा था अरमान ने मुझे मार डाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon