कस्बापेठ लोकसभा उपचुनाव में दावेदारी को लेकर राकांपा – कांग्रेस में ठनी

Spread the love

कस्बापेठ लोकसभा उपचुनाव में दावेदारी को लेकर राकांपा – कांग्रेस में ठनी

भाजपा सांसद गिरीश बापट के निधन से रिक्त हुईं सीट पर जल्द होगा उपचुनाव। कांग्रेस ने बताया परंपरागत सीट, तो राकांपा ने ज्यादा विधायक – सांसद होने का दिया हवाला

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – राकांपा द्वारा कांग्रेस के लिए हार का मापदंड तय कर पुणे की लोकसभा सीट पर दावा करना गलत है। कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री विजय वडेट्टीवार ने पुणे लोकसभा पर राकांपा के दावे को खारिज करते हुए कहा है कि विपक्ष के नेता अजीत पवार को महाविकास अघाड़ी के लिए रोड़ा नहीं बनना चाहिए, हमें एक साथ मिलकर आगामी चुनाव का डटकर मुकाबला करना चाहिए।

भाजपा सांसद गिरीश बापट के निधन से खाली हुई सीट पर कांग्रेस और राकांपा अपना – अपना दावा कर रही हैं। बापट की मृत्यु के कुछ दिनों के भीतर ही राकांपा शहर अध्यक्ष प्रशांत जगताप को भावी सांसद के रूप में देखा जाने लगा। उसके बाद दो दिन पहले ही खुद अजीत पवार ने पुणे लोकसभा सीट पर अपना दावा किया था।

पुणे लोकसभा उपचुनाव को लेकर जल्द ही ऐलान होने की संभावना है। कांग्रेस नेता बालासाहेब थोरात ने बयान दिया था कि पुणे लोकसभा का चुनाव सिर्फ कांग्रेस ने लड़ा था। अजित पवार ने इस बयान का जवाब देते हुए कहा कि पुणे लोकसभा सीट से सिर्फ राकांपा ही चुनाव लड़ेगी।

पुणे में रविवार को पत्रकारों से बात करते हुए अजीत पवार ने कहा कि पुणे लोकसभा चुनाव में किस पार्टी को चुनाव लड़ना है, इस पर महाविकास अघाड़ी के वरिष्ठ नेताओं द्वारा चर्चा की जाएगी। हालांकि राकांपा के पास पुणे में अधिक ताकत है, इसलिए हम चाहते हैं कि राकांपा ही इस सीट पर चुनाव लड़े। बालासाहेब थोरात भले ही इस सीट को कांग्रेस की सीट बता रहे हों, लेकिन मैं पुरजोर तरीके से कहता हूं कि इस सीट पर सिर्फ राकांपा ही चुनाव लड़ेगी।

कांग्रेस पर परोक्ष निशाना साधते हुए अजित पवार ने कहा कि पुणे में राकांपा के पास कांग्रेस से ज्यादा ताकत है। पुणे की मौजूदा स्थिति पर नजर डालें तो यह देखना चाहिए कि किसके पास ज्यादा विधायक-सांसद हैं। पुणे में कांग्रेस के पास पहले से ही यह सीट थी, लेकिन कांग्रेस पिछले चुनाव में इस सीट को नहीं बचा पायी थी।

नेता प्रतिपक्ष अजीत पवार ने राय व्यक्त की है कि पुणे में कस्बा पेठ लोकसभा क्षेत्र में गिरीश बापट के निधन के कारण रिक्त हुई सीट के लिए जल्द ही चुनाव होने की संभावना है। रयत शैक्षणिक संस्था के कार्यक्रम में हिस्सा लेने लिए के लिए पुणे आए अजित पवार मीडिया से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मैंने सोचा था कि लोकसभा चुनाव में एक साल बाकी है, इसलिए उपचुनाव नहीं होंगे। लेकिन ज्यादातर पुणे के कस्बा पेठ लोकसभा क्षेत्र में गिरीश बापट के निधन के कारण खाली हुई सीट पर उपचुनाव की संभावना है। मुझे ऐसी अंदरूनी जानकारी मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon