माकोका और 100 से अधिक मामलों में वांछीत अपराधी चढ़ा पुलिस के हत्थे

माकोका और 100 से अधिक मामलों में वांछीत अपराधी चढ़ा पुलिस के हत्थे

मुंबई और ठाणे जिले में अपराध का पर्याय बने ईरानी गैंग के आरोपी को खड़कपाड़ा पुलिस ने कर्नाटक से किया गिरफ्तार। पांच बाइक और एक पिस्टल भी बरामद

योगेश पाण्डेय – संवाददाता

कल्याण – ठाणे और मुंबई जिले के विभिन्न हिस्सों में चोरी, डकैती और आतंक का सहारा लेकर कानून व्यवस्था को बाधित करने वाले आंबिवली ईरानी बस्ती के एक खतरनाक अपराधी को खडकपाड़ा पुलिस ने शुक्रवार को कर्नाटक के धारवाड़ जिले के अलनवार गांव से गिरफ्तार कर लिया है।

उक्त गैंगस्टर की पहचान कासिम मुख्तार ईरानी उर्फ ​​तल्लाफ – 24 के रूप में हुई है। उसके खिलाफ ठाणे, मुंबई जिले के विभिन्न पुलिस स्टेशनों में 100 से अधिक मामले दर्ज हैं। कासिम के खिलाफ संगठित अपराध अधिनियम (मकोका) के तहत भी कार्रवाई की गई है। उसे 30 मामलों में भगोड़ा घोषित किया गया था, जिसके चलते पुलिस कुछ वर्षों से उसकी गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखे हुए थी।

पुलिस की रडार के बाहर होते हुए भी कासिम की गुप्त गतिविधियाँ जारी रही, इससे पुलिस के सामने बड़ी चुनौती थी। वरिष्ठों ने कासिम को किसी भी हालत में पकड़ने का आदेश दिया था। खडकपाड़ा पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सर्जेराव पाटिल को जानकारी मिली कि कासिम धारवाड़ जिले के एक गांव में छिपा हुआ है। उपायुक्त सचिन गुंजाल के मार्गदर्शन में वरिष्ठ निरीक्षक पाटिल, पुलिस निरीक्षक शरद झीने, नंद कुमार केंचे, सहायक पुलिस निरीक्षक अनिल गायकवाड, कांस्टेबल मधुकर दाभाड़े, अशोक पवार, जीतेंद्र ठोके, संजय चव्हाण, नवनाथ डोंगरे, जीतेंद्र सरदार, संजय चव्हाण, राजू लोखंडे, संदीप भोईर, योगेश बुधकर, सुधीर पाटिल, राहुल शिंदे, नवनाथ बोडके, अनंत देसले, कुंदन भांबरे, अविनाश पाटिल की टीम शुक्रवार सुबह कर्नाटक के धारवाड़ जिले में पहुंची।

पुलिस ने अलनवार गांव को पूरी तरह घेर लिया जहां कासिम के छिपे होने की पक्की खबर थी और गांव में घर-घर जाकर तलाश करने लगे। जैसे ही उसने सुना कि वह पुलिस से घिरा हुआ है, कासिम अपने घर की दीवारों पर चढ़कर भागने की कोशिश करने लगा। हालांकि पुलिस ने गांव को घेर लिया और कासिम का पीछा कर उसे गांव की सीमा में ही कैद कर दिया। आरोपी और पुलिस की झड़प में एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। कासिम कल्याण के पास आंबिवली के पाटिलनगर में ईरानी बस्ती में रहता है। उसके पास से पांच बाइक, एक पिस्टल भी बरामद की गई है।

पुलिस को अनुमान है कि कासिम की गिरफ्तारी से मुंबई और ठाणे जिलों में कई अपराधों का खुलासा हो जायेगा। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त दत्तात्रय शिंदे, उपायुक्त सचिन गुंजाल, सहायक पुलिस आयुक्त कल्याणजी घेटे ने खड़कपाड़ा पुलिस के इस सराहनीय कार्य के लिए उनकी पीठ थपथपाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Right Menu Icon
%d bloggers like this: