भिवंडी गोलीबारी घटना में बड़ा खुलासा, पुलिसकर्मी ने चोरी के इरादे से की थी फायरिंग 

Spread the love

भिवंडी गोलीबारी घटना में बड़ा खुलासा, पुलिसकर्मी ने चोरी के इरादे से की थी फायरिंग 

ठाणे ग्रामीण पुलिस ने मुंबई पुलिस के हेड कांस्टेबल को किया गिरफ्तार। लाखों का कर्ज चुकाने के लिए पुलिसकर्मी ने दिया घटना को अंजाम 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

भिवंडी – भिवंडी तालुका के मेंदे गांव के पास चार दिन पहले हुई गोलीबारी के मामले में ठाणे ग्रामीण पुलिस ने मुंबई पुलिस बल के एक पुलिसकर्मी को गिरफ्तार किया है, जिसका नाम सूरज ढोकरे है। सिर पर लाखों रुपये के कर्ज के चलते सूरज को कर्ज की किश्तें चुकाने के लिए पैसों की जरूरत थी, इसलिए पुलिस जांच में यह बात सामने आई कि उसने चोरी के मकसद से ऐसा किया था।

फायरिंग की घटना 13 अक्टूबर की रात 9.30 बजे हुई, मेंदे गांव के पास सड़क पर फायरिंग कर दो को जान से मारने की कोशिश की गई थी। उक्त मामले में पडघा पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 307 और भारतीय शस्त्र अधिनियम की धारा 325 के तहत मामला दर्ज करने के बाद, ग्रामीण पुलिस ने जांच शुरू की। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला कि यह अपराध चोरी के उद्देश्य से किया गया था और पुलिस ने तकनीकी जांच और शहर पुलिस की मदद से सूरज देवराम ढोकरे -37 को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही उसके पास से एक पिस्तौल भी बरामद की गई। इस अपराध के संबंध में पुलिस द्वारा आगे की जांच के बाद पता चला कि वह मुंबई पुलिस में हेड कांस्टेबल के पद पर कार्यरत है। ग्रामीण पुलिस ने बताया कि सूरज को गिरफ्तार कर लिया गया है और सूरज ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से आठ राउंड फायरिंग की थी।

सूरज ढोकरे पर अलग-अलग बैंकों समेत कई पतपेढ़ी का करीब 40 से 42 लाख का कर्ज था, इसलिए उसे इस ऋण की किस्त चुकाने के लिए धन की आवश्यकता थी। पुलिस जांच में पता चला कि सूरज ने चोरी के मकसद से फायरिंग की। सूरज ने दो बार भिवंडी, अंबाडी इलाके की रेकी की थी। क्या उसने पहले भी ऐसा किया है? इसकी जांच ग्रामीण पुलिस कर रही है।

ठाणे ग्रामीण पुलिस अधीक्षक विक्रम देशमाने, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. दीपाली घाटे के मार्गदर्शन में उपविभागीय पुलिस अधिकारी प्रशांत ढोले, मिलिंद शिंदे, पुलिस निरीक्षक संजय साबले, स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक सुरेश मनोरे, सहायक पुलिस निरीक्षक नितिन मुदगन, पुलिस उपनिरीक्षक महेश कदम, सागर जाधव की टीम ने उक्त मामले में सराहनीय योगदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon