बढ़े टोल के खिलाफ मुलुंड चेकनाका पर मनसे की गांधीगिरी 

Spread the love

बढ़े टोल के खिलाफ मुलुंड चेकनाका पर मनसे की गांधीगिरी 

मुलुंड टोल प्लाजा पर मनसे पदाधिकारियों द्वारा टोल अधिकारीयों को दिया गुलाब। चेतावनी देते हुए कहा आगे हमसे शांति की उम्मीद न करें 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना पदाधिकारियों ने सोमवार को मुलुंड टोल प्लाजा पर कर्मचारियों को गुलाब के फूल देकर टोल बढ़ोतरी के खिलाफ गांधीगिरी के रूप में प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने टोल कंपनी को चेतावनी दी कि वे मनसे से शांति की उम्मीद न करें। राज्य सड़क विकास निगम (एमएसआरडीसी) वर्तमान में सड़कों का रखरखाव नहीं कर रहा है, जबकि इन सड़कों को मुंबई महानगर पालिका को सौंप दिया गया है। कुल 55 में से केवल 13 फ्लाईओवर का रखरखाव एमएसआरडीसी प्राधिकरण द्वारा किया जाता है। इसलिए मनसे का कहना है कि अगर अथॉरिटी रखरखाव नहीं करती है तो उनके जरिए टोल वसूलना गलत है।

टोल दर बढ़ा दी गई है और मनसे ने इसका विरोध शुरू कर दिया है, इसी चलते रविवार को मनसे द्वारा ठाणे में हर चौराहे पर विरोध प्रदर्शन किया था। महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर मनसे शहर प्रमुख रवि मोरे ने सोमवार को मुलुंड चेकनाका में ‘गांधीगिरी’ विरोध प्रदर्शन किया। कुछ कार्यकर्ताओं ने महात्मा गांधी की वेशभूषा धारण की। उन्होंने टोल वसूलने वालों को गुलाब के फूल दिए, यह आखिरी शांति आंदोलन है। मोरे ने चेतावनी दी कि मनसे से अब शांति की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से यह मांग भी की है कि अगर टोल बंद नहीं किया गया तो टोल बढ़ोतरी रद्द की जाए। राकांपा नेता आनंद परांजपे ने मनसे पर नौटंकी का आरोप लगाया था, इसका जवाब देते हुए मोरे ने कहा कि जो बाला साहेब, शरद पवार का नहीं हुआ, उनके बारे कोई नहीं बता सकता कि वे कल और किस पार्टी में जाएंगे। इसलिए आनंद परांजपे को हमारी चिंता नहीं करनी चाहिए। टोल प्लाजा पर प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों को नवघर पुलिस ने हिरासत में लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon