मनसे की पहल पर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, 44 टोल प्लाजा होंगे बंद 

Spread the love

मनसे की पहल पर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, 44 टोल प्लाजा होंगे बंद 

राज ठाकरे और दादा भूसे की मुलाक़ात के बाद फैसला। मंत्रालय में नई व्यवस्था प्रणाली के साथ सरकार ने किये 14 वादे, जिसे एक महीने में पूरा करने का दिया आश्वासन 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – पिछले कई दिनों से विवादित रहे टोल को लेकर मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के शिवतीर्थ आवास पर मंत्री दादा भुसे और अन्य प्रमुख अधिकारियों के साथ बैठक हुई। इस बैठक के बाद राज ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार द्वारा टोल को लेकर किए गए वादों की जानकारी दी। साथ ही उन्होंने कहा कि 9 साल पहले मैं सरकार के साथ टोल मुद्दे पर चर्चा करने के लिए सह्याद्री गेस्ट हाउस गया था, तब मुझे बताया गया कि टोल को लेकर जो समझौता हुआ है वह 2026 तक के लिए है। हालाँकि इस समझौते में जो बदलाव करने की ज़रूरत थी, वह अभी तक नहीं किया गया है। मुंबई के एंट्रेंस और एग्जिट पर टोल रेट बढ़ने के बाद यह मुद्दा एक बार फिर उठ खड़ा हुआ है। राज ठाकरे ने कहा अब सरकार ने मुझसे कुछ वादे किए हैं और उन्हें पूरा करने के लिए 1 महीने का समय मांगा है।

सरकार द्वारा टोल बूथों के लिए किये गये वादों में विशेष रूप से अगले 15 दिनों तक एंट्री पॉइंट पर गाड़ियों की गिनती के लिए सरकार की ओर से कैमरे लगाए जाएंगे,सरकार के साथ-साथ महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना भी ऐसे कैमरे लगाएगी। टोल बूथ पर स्वच्छ शौचालय, प्राथमिक चिकित्सा सेवाएं, एम्बुलेंस, प्रकाश व्यवस्था सहित समझौते में उल्लिखित सभी सुविधाएं प्रदान की जानी चाहिए। शिकायत दर्ज कराने के लिए मंत्रालय में एक मैकेनिज्म बनाया जाएगा, जिसमें टोल बूथों पर होने वाली समस्याओं की रिपोर्ट करने के लिए एक मोबाइल नंबर प्रदान किया जाएगा।

अनुबंध के तहत सभी फ्लाईओवर, सबवे का स्ट्रक्चरल ऑडिट आईआईटी द्वारा किया जाएगा। सरकार ने ठाणे में टोल रेट बढ़ोतरी को रद्द करने के लिए एक महीने का वक्त मांगा है। पीली लाइन, जो पहले हर टोल बूथ पर थी, उसे फिर से शुरू किया जाएगा। इस पीली लाइन के बाहर कतार में लगने के बाद कतार कम होने तक सभी वाहनों को बिना टोल के छोड़ा जाएगा। अगर टोल बूथ पर फास्टैग काम नहीं करता है तो आपको एक बार भुगतान करना होगा। अगर आपके मोबाइल पर दोबारा पैसों के लिए मैसेज आए तो आप शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

टोल बूथ पर एक बड़ा बोर्ड लगाया जाएगा, जिसमें यह जानकारी दी जाएगी कि टोल के लिए कितने पैसे का टेंडर हुआ है, अब तक कितना पैसा वसूला जा चुका है और कितना पैसा वसूलना बाकी है। टोल एक ही जगह देना होगा आनंदनगर या ऐरोली।

हरिओमनगर, मुलुंड के निवासियों के लिए मुलुंड म्हाडा कॉलोनी से एक पुल का निर्माण किया जाएगा। केंद्र के अधिकार क्षेत्र में आने वाली सड़कें खराब हों तो टोल बंद करने का नियम है। इस संबंध में राज्य सरकार केंद्र सरकार से बात कर अगले 15 दिनों में कार्रवाई करेगी।

सार्वजनिक निर्माण विभाग के 29 और महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम के 15 पुराने टोल बंद करने के संबंध में मुख्यमंत्री अगले 15 दिनों में निर्णय लेंगे। मुंबई एंट्री पॉइंट, मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे और राजीव गांधी सीलिंक का CAG ऑडिट कराया जाएगा। भारी वाहन अक्सर लेन अनुशासन का पालन नहीं करते। दादा भुसे ने मुझसे वादा किया है कि सरकार अगले महीने के भीतर भारी वाहनों पर अंकुश लगाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon