गोरेगांव पुलिस और बीपीसीएल की मिली भगत से तमंचे के शय पर चल रही है गोरेगांव भारत गैस एजेंसी

Spread the love

गोरेगांव पुलिस और बीपीसीएल की मिली भगत से तमंचे के शय पर चल रही है गोरेगांव भारत गैस एजेंसी

बीपीसीएल और गोरेगांव पुलिस की मिली भगत से गोरेगांव में हो सकता है बड़ा हादसा

 

मुंबई संवाददाता

मुंबई : मुंबई के गोरेगांव से चलने वाली गोरेगांव भारत गैस एजेंसी इन दीनों बंदूक की नोक पर चल रही ऐसा इसलिए कि फर्जी मालिक पिस्तौल दिखाकर कारोबार कर रहा है, आपको बता दें कि गोरेगांव भारत गैस एजेंसी जैन जवेरी नामक व्यक्ति को बीपीसीएल द्वारा आवंटित की गई थी, लेकिन इस एजेंसी पर अब रवि पवार व राजू टुंगरे द्वारा जबरन कब्जा कर अवैध तरीके से चलाई जा रही है, जिसकी वजह से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है, खुले मैदान में ट्रकों से भारत गैस बाटला कभी भी आगजनी का शिकार हो सकता है।

आपको बताते चले कि रवि पवार बंदूक की नोक पर इस एजेंसी पर इतना हावी हुआ है कि वह बेखौफ अपने काले साम्राज्य को बढ़ाने में जुट गया है, 50% से ज्यादा घरेलू गैस बाटलों को ब्लैक मार्केटिंग में बेच दिया जाता है और ग्राहकों को सप्ताह सप्ताह भर अपने बुकिंग बाटलों का इंतजार करना पड़ता है।

आपको बता दे की गोरेगांव भारत गैस एजेंसी में अगर बीपीसीएल जांच करें तो बहुत गड़बड़ियां पाई जाएंगे ब्लैक मार्केटिंग से लेकर उल्टे सीधे काम रवि पवार और उसके गुर्गो द्वारा किया जा रहा है, लगातार खबर के माध्यम से बीपीसीएल को अवगत कराया जा रहा है, लेकिन बीपीसीएल के कोई भी जिम्मेदार अधिकारी इस मामले में गंभीरता नहीं ले रहे हैं, इसका मतलब यह है कि रवि पवार के इस काले साम्राज्य की मलाई बीपीसीएल में बैठे अधिकारी भी खा रहे हैं, यही वजह है कि गोरेगांव भारत गैस एजेंसी के अवैध मलिक रवि पवार के ऊपर ना तो कार्रवाई हो रही है ना तो एजेंसी रद्द की जा रही है, जिसकी वजह से इलाके में भारत गैस एजेंसी के उपभोक्ताओं को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है!

वही गोरेगांव पुलिस भी बंदूक की नोक पर चलने वाली गोरेगांव भारत गैस एजेंसी के फर्जी मालिक रवि पवार के तमंचे की भी जांच नहीं कर रही है, जिसे दिखाकर वह बेखोफ अपने काले साम्राज्य को चल रहा है, तस्वीर में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि अपनी कमर में पिस्टल लगाकर तस्वीर खिंचवाता है और उसे दिखा कर अपने दबदबे को और बढ़ाने में जुटा है, लेकिन इस अवैध तमंचे और आरोपी के ऊपर न तो गोरेगांव पुलिस कोई कार्रवाई कर रही है ना तो बीपीसीएल के अधिकारी।

शिकायतकर्ता इस मामले में गोरेगांव पुलिस को लिखित पत्र तस्वीर के साथ साझा करेगा और बीपीसीएल सहित केंद्र में बैठे पेट्रोलियम मंत्री सहित तमाम जिम्मेदार अधिकारियों को लिखित पत्र देकर इस पूरे घटनाक्रम से अवगत कराएगा!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon