फरवरी से मई के बीच ऑनलाइन फ़्रॉड के जरिये 1.27 करोड़ की ठगी 

Spread the love

फरवरी से मई के बीच ऑनलाइन फ़्रॉड के जरिये 1.27 करोड़ की ठगी 

कम निवेश में ज्यादा मुनाफे के चक्कर में मुंबई के युवक से ठगी |कोलकाता और यूपी के अकाउंट में ट्रांसफर कराये गए पैसे। पुलिस ने सभी खातों को फ्रीज़ कर जाँच शुरू की 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता

मुंबई – मुंबई के एक शख्स से 1.27 करोड़ रुपए की ठगी का ताज़ातरीन मामला सामने आया है। दरअसल पीड़ित व्यक्ति ने हाल ही में अपना फ्लैट 1.27 करोड़ रुपए में बेचा था। इस रकम को वह नए फ्लैट में इन्वेस्ट करना चाहता था। इसी दौरान एक महिला ने उसे पार्ट टाइम जॉब में कम इन्वेस्ट में अच्छा रिटर्न देने का भरोसा देकर करोड़ों का चूना लगा दिया। ठगी की घटना को इस साल फरवरी से मई के बीच अंजाम दिया गया, जो अब सामने आया है।

पीड़ित ने बताया कि उसे टेलीग्राम पर एक महिला का मैसेज आया था। महिला ने पार्ट टाइम जॉब में कम इन्वेस्ट में अच्छा रिटर्न देने का लालच दिया। महिला ने कहा कि मैं तुम्हें फिल्मों और होटलों के लिंक शेयर करूंगी, तुम्हें उन्हें रेटिंग देनी होगी। इसके बाद मुझे उसका स्क्रीनशॉट भेजना होगा। शख्स ने कहा कि मुझे काम अच्छा लगा तो मैंने हां कर दी। इसके बाद महिला ने मुझे एक वेब लिंक शेयर की, जिसमें मुझे अपनी बैंक की डिटेल जैसी जानकारियां देनी थीं। और इस पर शो हो रहे ई-वॉलेट को देखने के लिए लॉगिन और पासवर्ड भी दिया।

उसने मुझे एक अकाउंट की डिटेल शेयर की और 10 हजार रुपए जमा करने को कहा। उस अकाउंट में 10 हजार रुपए जमा करने के बाद महिला ने मुझे एक वेबसाइट का लिंक भेजा। जिसमें कुछ होटल्स की डिटेल थी, मैंने एक होटल को रेटिंग कर महिला को उसका स्क्रीनशॉट भेज दिया। कुछ ही देर बाद महिला की ओर से भेजी गई लिंक के ई-वॉलेट में 17,372 रुपए आ गए।

महिला ने मुझे एक फिल्म को रेटिंग देने के लिए लिंक भेजा और 32,000 रुपए जमा करने को कहा। फिल्म को रेटिंग करने के बाद मेरे ई-वॉलेट में 55 हजार रुपए आ गए। इसके बाद महिला ने कहा कि लिंक में कुछ तकनीकी खराबी है, मुझे महिला को 55,000 रुपए और भेजने होंगे। फिर मैंने महिला को 55,000 रुपए भेज दिए।इसके बाद 17 मई को महिला ने मुझे बैंक अकाउंट में 48 लाख रुपए जमा करने को कहा और रेटिंग देने के लिए कुछ लिंक शेयर किए। रेटिंग करने और 48 लाख रुपए ट्रांसफर करने के बाद मेरे ई-वॉलेट में 60 लाख रुपए दिखने लगे।

फिर महिला ने मुझसे कहा कि अगर मैं ई-वॉलेट के 60 लाख रुपए बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करना चाहता हूं तो अतिरिक्त 30 लाख रुपए देने होंगे। फिर मैंने 18 मई को महिला के खाते में 76 लाख रुपए ट्रांसफर किए।

इसके बाद भी जब ई-वॉलेट से पैसे मेरे अकाउंट में नहीं आए तो मुझे ठगे जाने का आभास हुआ। मैंने पुलिस को पूरे मामले की जानकारी देकर FIR दर्ज कराई।

पुलिस का कहना है कि शुरुआत में जालसाज लोगों का भरोसा जीतने के लिए उनके बैंक अकाउंट में कुछ पैसे ट्रांसफर करते हैं। इसके बाद वे लोगों के अकाउंट से लाखों रुपए साफ कर देते हैं। जांच में पता चला है कि उसने पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश के 8 बैंक अकाउंट में ये रुपए ट्रांसफर किए हैं।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि FIR के मुताबिक शख्स से कुल 1.27 करोड़ रुपए ठगे गए हैं। ठगी की इस घटना को इस साल फरवरी से मई के बीच में अंजाम दिया गया। हमने आरोपियों के बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Right Menu Icon