नाटकीय घटनाक्रम के बाद आखिरकार जितेंद्र अव्हाड को मिली ज़मानत

नाटकीय घटनाक्रम के बाद आखिरकार जितेंद्र अव्हाड को मिली ज़मानत

पुलिस थाने के बाहर राकांपा कार्यकर्ताओं का रातभर प्रदर्शन। ठाणे कोर्ट से ज़मानत मिलते ही कार्यकर्ताओं ने मनाया जश्न

योगेश पाण्डेय – संवाददाता

ठाणे – विवियाना मॉल में फ़िल्म हर हर महादेव के प्रदर्शन के दौरान हंगामा करने और एक दर्शक की पिटाई के मामले में राकांपा विधायक जितेंद्र अव्हाड, ठाणे जिलाध्यक्ष आनंद परांजपे और 12 अन्य राकांपा कार्यकर्ताओं को ठाणे पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया था। शनिवार को उन्हें ठाणे की अदालत में पेश करने के बाद अदालत ने उन्हें 15,000 रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दे दी, जिसके चलते अव्हाड समेत अन्य 12 लोगों को रिहा किया जाएगा। पिछले 24 घंटे से राकांपा कार्यकर्ता मांगों के समर्थन में थाने के बाहर धरना दे रहे थे। जैसे ही उन्हें खबर मिली कि अव्हाड को रिहा कर दिया जाएगा, कार्यकर्ताओं ने हर्षोल्लास के साथ इसका जश्न मनाया।

राकांपा विधायक जितेंद्र अव्हाड ने सोमवार को ठाणे स्थित विवियाना मॉल में फिल्म ‘हर हर महादेव’ की स्क्रीनिंग बंद करवा दी। घटना के दौरान एक दर्शक के साथ मारपीट भी की गई। उसके बाद दर्शकों द्वारा दी गई शिकायत के आधार पर वर्तकनगर पुलिस थाने में अव्हाड सहित 100 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। शुक्रवार को उक्त घटना के चलते अव्हाड को वर्तकनगर थाने बुलाया गया और गिरफ्तार कर लिया गया। उसके बाद राकांपा के ठाणे जिलाध्यक्ष आनंद परांजपे सहित 11 अन्य लोगों को वर्तकनगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

अव्हाड की गिरफ्तारी की खबर मिलते ही ठाणे, कलवा, मुंब्रा क्षेत्र के राकांपा कार्यकर्ता पुलिस थाने पर जुटने लगे। रात भर ये कार्यकर्ता थाने के बाहर डटे रहे। शनिवार को सुबह साढ़े दस बजे जैसे ही कार्यकर्ताओं को सूचना मिली कि अव्हाड को ठाणे कोर्ट लाया जाएगा, कार्यकर्ता फिर से कोर्ट के बाहर जमा होने लगे। इन कार्यकर्ताओं ने अव्हाड के रिहायी के समर्थन में जोरदार नारेबाजी की।

इस दौरान पुलिस ने कोर्ट के बाहर परिसर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी। साथ ही कोर्ट के सामने का रास्ता भी दोनों तरफ से बंद कर दिया गया।अव्हाड को सुबह साढ़े दस बजे के करीब कोर्ट लाया गया। तत्कालीन प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट बी. एल.पाल की अदालत में पेश किया गया। राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण इस मामले की सुनवाई के लिए बड़ी संख्या में वकील मौजूद थे।

सरकारी पक्ष की ओर से पुलिस ने सात दिन की पुलिस हिरासत की मांग की। अव्हाड के वकीलों ने इस पर आपत्ति जताई और गिरफ्तारी को अवैध बताया। साथ ही पुलिस ने नोटिस जारी करने के कुछ घंटों के भीतर ही 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद पाल ने 12 लोगों के साथ अव्हाड को सुरक्षित हिरासत में वर्तकनगर थाने भेज दिया। जब अव्हाड को वर्तकनगर पुलिस थाने ले जाया जा रहा था, तब कोर्ट के बाहर जमा हुए राकांपा कार्यकर्ताओं ने फिर जोरदार नारेबाजी की।

आखिरकार दोपहर करीब 2.30 बजे जज ने अव्हाड समेत 12 लोगों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। अव्हाड के वकीलों ने तब तत्काल जमानत के लिए आवेदन किया। इसके तुरंत बाद, अदालत ने सभी 12 लोगों को जमानत दे दी। अदालत से जमानत मिलने की खबर सुनकर वर्तकनगर पुलिस थाने के बाहर जमा कार्यकर्ताओं ने हर्षोल्लास के साथ जश्न मनाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: