महिला वकील से लोकल ट्रेन में हुई छेड़छाड़, शिकायत दर्ज करने की बजाय गुमराह करती रही पुलिस

महिला वकील से लोकल ट्रेन में हुई छेड़छाड़, शिकायत दर्ज करने की बजाय गुमराह करती रही पुलिस

पुलिस की असंवेदनशीलता पर महिला ने उठाया सवाल, ट्वीट कर दी घटना की पूरी जानकारी

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई : कुछ दिन पहले मुंबई के एक लोकल में 21 साल की महिला से छेड़छाड़ की गई, मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति द्वारा छेड़छाड़ का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। हालांकि अब इस मामले में पीड़िता ने रेलवे पुलिस पर असंवेदनशील होने का आरोप लगाते हुए पीड़ित युवती ने ट्विटर के जरिए घटना की जानकारी दी। रेलवे कमिश्नर कैसर खालिद ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं और छेड़छाड़ का मामला दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू कर दी गई है।

महिला ने ट्वीटर पर अपनी आप बीती का ब्योरा देते हुए लिखा की वह किसी निजी काम से जोगेश्वरी जा रही थी, तभी अंधेरी और जोगेश्वरी स्टेशनों के बीच महिला प्रथम श्रेणी कोच में एक व्यक्ति ने उसे गलत तरीके से छूकर छेड़छाड़ की। फिर जैसे ही ट्रेन जोगेश्वरी स्टेशन के पास पहुंची, वह कूदकर भाग गया। इस घटना के बाद भयभीत महिला अंधेरी रेलवे थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंची।

अंधेरी जीआरपी चौकी पर पहुँचने से पहले पीड़िता ने शहर के दो थानों में शिकायत दर्ज कराने की कोशिश की थी वह बेहद डरी हुई थी और लगातार रो रही थी। उसने पुलिस को बताया कि उसके साथ छेड़छाड़ की गई है और उसने कहा कि वह पुलिस से बात करना चाहती है। उसके लिए ‘बलात्कार’ शब्द का क्या अर्थ है? ऐसा सवाल किया। उसने यह भी दावा किया कि महिला से पूछा गया कि क्या अपराधी उसका प्रेमी था। इसके बाद महिला को सीसीटीवी फुटेज दिखाई गई। जब उसने अपराधी की पहचान की, तो एक महिला पुलिस अधिकारी ने उससे कहा कि चूंकि वह एक वकील है, इसलिए उसे उस आदमी को मारना चाहिए था। महिला से पूछताछ के दौरान एक ही घटना ने उसे तीन-चार बार बयान दिया। महिला ने यह भी आरोप लगाया है कि तीन घंटे तक उसका बयान भी दर्ज नहीं किया गया।

जिस स्थान पर महिला का यौन उत्पीड़न किया गया है वह बोरीवली रेलवे पुलिस के अधिकार क्षेत्र में आता है। और महिला से कहा गया कि यह जानकारी उसके पास भेज दी जाएगी। इसके बाद शाम को बोरीवली रेलवे पुलिस स्टेशन से इस महिला को एक और कॉल आया, सीसीटीवी फुटेज में अपराधी की पहचान करने के लिए उसे एक बार फिर बुलाया गया, महिला ने यह भी कहा है। यह मेरे जीवन की एक दर्दनाक घटना थी कि मुझे फिर से पुलिस थाने जाना पड़ा।

महिला ने ट्विटर पर लिखा इसे लिखने का मेरा एकमात्र उद्देश्य पुलिस बल को संवेदनशील बनाने और उन्हें विशेष रूप से ऐसी संवेदनशील घटनाओं के लिए अपने स्वयं के कर्तव्यों के लिए जागरूक और जिम्मेदार बनाने का विनम्र अनुरोध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: