पड़ोसी द्वारा बुजुर्ग महिला की हत्या, गुमशुदगी रिपोर्ट से हुआ अपराध का पर्दाफाश

पड़ोसी द्वारा बुजुर्ग महिला की हत्या, गुमशुदगी रिपोर्ट से हुआ अपराध का पर्दाफाश

चोरी के इरादे से घर में घुसा चोर, हत्या कर चुराए बुजुर्ग महिला के गहने। हत्यारे मां बेटे को पुलिस ने किया गिरफ्तार

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

ठाणे : ठाणे स्थित श्रीनगर पुलिस ने 12 घंटे के भीतर एक बुजुर्ग महिला की हत्या के मामले को सुलझाते हुए हत्या के आरोपी मां और बेटे को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

ठाणे के वागले ईस्टेट स्थित किसन नगर नंबर 2 में रहने वाली 65 वर्षीय महिला जीजाबाई बालू केदार 5 सितंबर से अचानक लापता हो गई। जिसके गुमशुदगी की रिपोर्ट श्रीनगर पुलिस स्टेशन में 7 सितंबर को दर्ज कराई गई थी। उक्त मामले की जांच के लिए पुलिस जब मृतक महिला के घर पहुंची तब घर का दरवाजा बाहर से बंद पाया। घर के भीतर से आ रही दुर्गंध के चलते जब पुलिस ने ताला तोड़कर घर के भीतर प्रवेश किया तब लापता महिला का शव खून से लथपथ जमीन पर पड़ा मिला। पुलिस को कोई सबूत नहीं मिलने के चलते अज्ञात अपराधी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी।

लापता वृद्ध महिला अपने घर में खून से लथपथ मृत पाई गई, जिससे इलाके में हड़कंप मच गया। पुलिस ने मौके का मुआयना कर बिना किसी सबूत के अपनी जांच शुरू कर दी। श्रीनगर थाने की पुलिस टीम ने मृतक वृद्ध महिला के पड़ोस में रहने वाले 27 वर्षीय नारायण विजयलाल केवट को बड़ी कुशलता से शक के आधार पर जांच पड़ताल करने के बाद हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान जब आरोपी से कसकर पूछताछ की गई तब आरोपी नारायण केवट ने अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया कि उसने उसने जीजाबाई से जेवर चुराए और अपनी मां 47 वर्षीय सुभावती विजयलाल केवट को दे दिए। इस इकबालिया बयान के आधार पर पुलिस ने जीजाबाई के पड़ोसी नारायण केवट और उसकी मां सुभावती केवट को गिरफ्तार कर लिया है।

जीजाबाई बीसी चलाने का काम करती थी और ब्याज पर पैसे दिया करती थी। यह देखकर कि जीजाबाई घर में अकेली रहती है और ढेर सारा पैसा भी घर में होता है, पड़ोसी नारायण केवट रात में पैसे चुराने के इरादे से घर में घुस गया और तभी जीजाबाई जाग गई। जब जीजाबाई ने विरोध करने की कोशिश की, तो नारायण ने जीजाबाई की गर्दन पर धारदार ब्लेड से वार कर उसकी हत्या कर दी। हालांकि जीजाबाई के घर में पैसे नहीं मिलने के चलते नारायण ने जीजाबाई के शरीर से गहने उतर लिए और दरवाजा बाहर से बंद कर फरार हो गया। नारायण ने अपनी मां को घटना कि पूरी जानकारी दी और चिरी किए गहने भी अपनी मां सुभावती को सौंप दिए।

इस मामले में हत्या के अपराधी पड़ोसी नारायण और उसकी मां सुधावती को पुलिस ने चोरी और हत्या के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया है। कम समय में हत्या का पता लगाने के चलते परिमंडल 5 के पुलिस उपायुक्त विनय कुमार राठौड़ ने उत्कृष्ट जांच और प्रदर्शन के लिए पुलिस अधिकारी सुनील ढोंडे, मुकुंद राठौड़, नीलेश शेंडगे को 15 हजार के पुरस्कार से सम्मानित किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: