दिल्ली शराब घोटाला मामले में सीबीआई के बाद ईडी ने संभाला मोर्चा

दिल्ली शराब घोटाला मामले में सीबीआई के बाद ईडी ने संभाला मोर्चा

पंजाब, तेलंगाना समेत मुंबई में ईडी की छापेमारी। मनीष सिसोदिया ने कहा बौखला गई है भाजपा, न सीबीआई को कुछ मिला नही ईडी को मिलेगा

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – प्रवर्तन निदेशालय ने मंगलवार को दिल्ली शराब घोटाला केस में 30 से ज्यादा जगहों पर छापा मारा है। इसके अलावा लखनऊ, पंजाब, हरियाणा, तेलंगाना और मुंबई में भी छापेमारी की गई है। कई शराब कारोबारियों के ठिकानों पर भी ईडी की टीमें मौजूद हैं। फिलहाल इनमें दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया या किसी अन्य सरकारी कर्मचारी के घर पर ईडी की टीम नहीं पहुंची है।

इस बीच दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि पहले इन्होंने सीबीआई के छापे मारे, कुछ नहीं मिला। अभी ईडी के छापे मारेंगे। इसमें भी कुछ नहीं निकलेगा। देश में जो शिक्षा का माहौल बना हुआ है, अरविंद केजरीवाल जी जो काम कर रहे हैं, उसे रोकने का प्रयास भाजपा की ओर से किया जा रहा है। लेकिन ये लोग उसे रोक नहीं पाएंगे। यह सीबीआई यूज कर लें या ईडी यूज कर लें। उसे रोक नहीं पाएंगे। मेरे पास ज्यादा सूचना नहीं है। मैंने ईमानदारी से काम किया है।

दिल्ली के जोर बाग में बिजनेसमैन समीर महंद्रू के घर छापेमारी की गई। उनके घर सुबह करीब 7 बजे से ईडी की टीम मौजूद है। उन पर मेसर्स राधा इंडस्ट्रीज के राजेन्द्र प्लेस स्थित यूको बैंक के अकाउंट में 1 करोड़ रुपए ट्रांसफर करने का आरोप लगा है। उधर, हरियाणा में बडी रिटेल प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर अमित अरोड़ा के घर पर भी छापेमारी जारी है।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 1 अगस्त को एलान किया था कि पुरानी शराब नीति लागू होगी। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि केंद्र सरकार ने इस पॉलिसी में सीबीआई की एंट्री करा दी, जिससे कोई भी ठेका लेने के लिए तैयार नहीं है। इसलिए हम नई व्यवस्था लागू नहीं करेंगे। उपमुख्यमंत्री ने कहा था कि नई एक्साइज पॉलिसी से भाजपा का भ्रष्टाचार खत्म हो जाता और साल में 9,500 करोड़ का राजस्व आना बंद हो जाता। वर्तमान में दिल्ली में 468 दुकानें चल रही हैं , लेकिन भाजपा का मकसद है कि दिल्ली में अवैध शराब की बिक्री बढ़े।

दिल्ली के उप राज्यपाल ने नई शराब नीति के बाद निकले टेंडर को लेकर सीबीआई जांच के निर्देश दिए थे। उप राजयपाल ऑफिस की ओर से कहा गया कि सिसोदिया की भूमिका जानबूझकर की गई खामियों के चलते जांच के दायरे में है, जिसने 2021-22 के लिए शराब लाइसेंस धारकों के लिए टेंडर में 144 करोड़ का अवैध रूप से लाभ पहुंचाने का काम किया।

19 अगस्त को शराब घोटाले में सीबीआई ने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर समेत दूसरे ठिकानों पर छापेमारी की थी। मनीष सिसोदिया पर जिन 3 धाराओं में केस दर्ज है, उनमें 2 धाराएं प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत आती हैं। ईडी के पूर्व डिप्टी डायरेक्टर सत्येंद्र सिंह का मानना है कि इस केस में अगले 1-2 दिन में ईडी की एंट्री हो सकती है।

मनीष सिसोदिया पर इंडियन पीनल कोड की धारा 120B, 477A और प्रिवेंशन ऑफ करप्शन की धारा 7 के तहत केस दर्ज हुआ है। इनमें से IPC की धारा 120B और PC एक्ट की धारा 7 दोनों पर ईडी जांच में शामिल हो सकती है। ये दोनों धाराएं PMLA के तहत शेड्यूल्ड ऑफेंस में आती हैं। इस तरह के मामलों में ईडी फौरन कार्रवाई करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: