महाराष्ट्र में जल्द ही सस्ता होगा डीजल और पेट्रोल, नई सरकार का फैसला

महाराष्ट्र में जल्द ही सस्ता होगा डीजल और पेट्रोल, नई सरकार का फैसला

भाजपा समर्थित शिंदे सरकार कैबिनेट बैठक में करेगी फैसला, साथ ही किसान आत्महत्या मुक्त महाराष्ट्र बनाने पर जोर

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई : मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने भाजपा शासित राज्यों द्वारा पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में की गई टैक्स कटौती की तर्ज पर राज्य में पेट्रोल और डीजल पर मूल्य वर्धित करों में जल्द ही कटौती करने की घोषणा की है। उन्होंने यह भी कहा कि कितना टैक्स घटाया जाएगा इस पर फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया जाएगा। कैबिनेट के फैसले के बाद ही ईंधन वास्तव में सस्ता होगा।

बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाने के लिए केंद्र सरकार ने मई में पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क में 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये की कटौती की थी। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि अब समय राज्य सरकारों को भी मूल्य वर्धित कर को कम करना चाहिए। इस हिसाब से बीजेपी शासित राज्यों ने टैक्स में कटौती किया था। हालांकि, गैर-भाजपा शासित राज्यों ने मामूली कटौती या फिर कटौती करने से ही परहेज किया था। इसके चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गैर बीजेपी शासित राज्यों से टैक्स घटाने की अपील की थी।

प्रधानमंत्री की अपील के अनुसार, राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार ने पेट्रोल पर मूल्य वर्धित कर में 2.08 पैसे और डीजल में 1.44 पैसे की कमी का दावा किया था। हालांकि, भाजपा ने सरकार पर ईंधन की कीमतों में कटौती किए बिना केंद्र के फैसले से लोगों को लाभान्वित करने का आरोप लगाया था।

मुख्यमंत्री शिंदे द्वारा विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव की घोषणा के बाद उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के साथ-साथ भाजपा शासित राज्यों में ईंधन कर कम करने का प्रस्ताव रखा। विश्वास प्रस्ताव जीतने के बाद नई सरकार की भूमिका के बारे में बताते हुए शिंदे ने तीन फैसलों की घोषणा कर किसानों और लोगों को आश्वस्त करने की कोशिश की। महाविकास अघाड़ी सरकार ने यह कहकर लोगों को धोखा दिया कि उसने ईंधन पर मूल्य वर्धित कर को कम किए बिना ईंधन की कीमतें कम कर दी हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि उनकी सरकार जल्द ही ईंधन पर मूल्य वर्धित कर में कटौती करेगी, जिस पर कैबिनेट की बैठक में फैसला किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने रायगढ़ की तलहटी में स्थित हिरकानी गांव के समग्र विकास के लिए 21 करोड़ रुपये के कोष की भी घोषणा की। प्रदेश के विकास में किसानों का योगदान सबसे ज्यादा, और उनकी मदद करने में सरकार की भूमिका अहम होती है। शिंदे ने कहा, हम महाराष्ट्र को जल्द ही किसान आत्महत्या मुक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा, शिवसेना के दोनों उम्मीदवारों को राज्यसभा चुनाव में निर्वाचित होना चाहिए था। उसके लिए मैंने बाहर से तीन वोट का इंतजाम किया था, फिर भी शिवसेना को हार का सामना करना पड़ा, क्योंकि, देवेंद्र फडणवीस ने एक बड़े कलाकार की भूमिका निभाई। उन्होंने हमारे साथ छोटे दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों के वोटों को भाजपा उम्मीदवार की ओर मोड़ दिया, एकनाथ शिंदे ने कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: