युवाओं को नजरअंदाज कर रेलवे देगा रिटायर्ड कर्मचारियों को नौकरी

युवाओं को नजरअंदाज कर रेलवे देगा रिटायर्ड कर्मचारियों को नौकरी

गति शक्ति यूनिट का गठन कर सेवा निवृत कर्मचारियों के अनुभव के इस्तेमाल से लंबित मामलों को सुलझाने की पहल 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – एक ओर जहाँ देश के पढ़े लिखें युवा बेरोजगारी से तंग आकत आत्महत्या या आपराधिक गतिविधियों में शामिल ही रहे हैं वहीं दूसरी ओर भारतीय रेल रिटायर्ड कर्मचारियों के पुनः बहाली करने का मन बना रही है। रेलवे में सुपरवाइजर के पद से रिटायर हुए लोगों के लिए खुशखबरी। रेलवे ने सभी मंडलों में गति शक्ति यूनिट (जीएसयू) के गठन का फैसला किया है। इस यूनिट के तहत ही रिटायर सुपरवाइजरों की भर्ती होगी। इन सभी को तय होने वाले मानदेय पर भुगतान किया जाएगा। इन सुपरवाइजरों के अनुभवों के जरिए रेलवे अपने लंबित मामलों का समय पर निस्तारण कराएगा।

रेलवे अफसरों ने बताया कि गति शक्ति यूनिट गठन करने के पीछे मंशा है कि लंबित कार्यों को गति देना। रेलवे का मानना है कि रिटायर कर्मचारियों को तय होने वाले मानक के तहत भुगतान किया जाएगा। इससे रेलवे पर कोई विशेष अधिभार भी नहीं पड़ेगा। हेड ऑफिस दफ्तर के महाप्रबंधक अजय कुमार पाठक ने इस आशय के आदेश सभी मंडल रेल प्रबंधकों को जारी करके कहा है कि जल्द ही गति शक्ति यूनिट का गठन करके भर्ती प्रक्रिया शुरू हो।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को लालकिले की प्राचीर से गति शक्ति परियोजना का ऐलान किया था। रेलवे इसी क्रम में अपने सभी डिविजन में गति शक्ति यूनिट बना रहा है। इस यूनिट में पांच सदस्यों को रखा जाएगा जो सीधे डीआरएम को रिपोर्ट करेंगे। इसके जरिए रेलवे अपनी आधारभूत संरचना को गति देने और उसपर केंद्रित होकर काम करने की कोशिश कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: