रेवड़ी बांट रहे राहुल, गुजरात दौरे पर चुनावी वादों की बौछार 

रेवड़ी बांट रहे राहुल, गुजरात दौरे पर चुनावी वादों की बौछार 

गुजरात में कांग्रेस सत्ता में आई तो 10 लाख रोजगार, 500 में गैस सिलेंडर और कोरोना से मरे मृतक के परिजनों को 4 लाख का मुआवजा

भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा सरदार पटेल के विचारों का गला घोंटा रही है भाजपा

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस नेता राहुल गांधी गुजरात दौरे हैं। राहुल गांधी सोमवार दोपहर गुजरात पहुंचे। मंच पर उनके साथ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी नजर आए। राहुल गांधी ने साबरमती नदी किनारे बने रिवरफ्रंट में कांग्रेस के करीब 52 हजार बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कांग्रेस की सरकार बनने पर गुजरात के किसानों का 3 लाख रुपए का कर्जा माफ करने का वादा किया।

राहुल गांधी ने 300 यूनिट बिजली फ्री देने और गैस सिलेंडर 500 रुपए में देने की भी घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना से मरने वालों के परिवारों को भी मुआवजा देने का वादा किया। उन्होंने कहा गुजरात में कोरोना से तीन लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। लेकिन, राज्य सरकार ने मृतकों के परिवार वालों की कोई मदद नहीं की। हालांकि यदि हमारी सरकार बनी तो कोरोना से मरने वाले प्रत्येक मृतक के परिवारों को 4-4 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। इसके अलावा हमारी पार्टी 10 लाख युवाओं को रोजगार भी देगी।

राहुल गांधी ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी लड़ाई पार्टी से नहीं है, बल्कि एक विचारधारा से है। सरदार पटेल ने किसानों के खिलाफ एक शब्द भी नहीं कहा, लेकिन भाजपा एक तरफ उनकी सबसे बड़ी मूर्ति तो बनाती है, लेकिन उनके विचारों के खिलाफ ही काम करती है। जिन किसानों के लिए सरदार जीते थे, भाजपा उन्हीं किसानों के लिए 3 काले कानून ले आई है। भाजपा ने किसानों के अधिकार छीन लिए। इसलिए किसानों ने सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया है। आज अगर सरदार पटेल जीवित होते तो पहले किसका कर्ज माफ करते, किसानों का या उद्योगपतियों का।

राहुल गांधी ने कहा कि लोकतंत्र पर आक्रमण, गुजरात की जनता पर आक्रमण, कोई कुछ नहीं बोल सकता है। यह ऐसा राज्य है जहां आंदोलन के लिए भी परमिशन लेनी पड़ती है। जिसके खिलाफ आंदोलन करना है, उसकी पहले परमीशन लेनी पड़ेगी। यह गुजरात है। हिंदुस्तान में किसी को बिजनस समझना हो तो वह गुजरात आए लेकिन छोटे और मध्यम व्यापारी गुजरात की स्ट्रेंथ हैं। गुजरात सरकार छोटे कारोबारियों की कोई मदद नहीं करती है। छोटे व्यापारियों को नोटबंदी से कोई फायदा नहीं हुआ। बड़े-बड़े उद्योगपतियों को ही फायदा हुआ। किसी भी व्यापारी से पूछिए तो बताएगा की जीएसटी से सिर्फ नुकसान, नुकसान और नुकसान ही है।

वहीं भारत जोड़ो यात्रा को लेकर कांग्रेस आज 32 शहरों में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रही है। 7 सितंबर से शुरु हो रही ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के तहत 12 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में 3,500 किलोमीटर लंबी पदयात्रा की जाएगी और यह लगभग 150 दिनों में पूरी होगी। हालांकि, इस पूरी यात्रा का शेड्यूल अभी तक जारी नहीं हुआ है।

प्रदेश नेताओं के साथ बैठक में राहुल गांधी उम्मीदवारों के चयन को लेकर चर्चा करेंगे और इसके बाद कांग्रेस की चुनाव समिति की पहली बैठक होगी। इसी दिन स्क्रीनिंग कमेटी की भी बैठक होगी। 15 सितंबर तक उम्मीदवारों की सूची घोषित करने की योजना बनाई गई है। पहली सूची में 30 से 40 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा होने की संभावना जताई जा रही है।

इससे पहले राहुल गांधी ने आखिरी बार 10 मई को गुजरात का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने दाहोद शहर में आदिवासियों को संबोधित किया था। पार्टी नेताओं ने कहा कि इस बार वह आगामी चुनावों के लिए बूथ स्तर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं को लामबंद करेंगे और इस तरह पार्टी के चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे। राहुल गांधी की गुजरात यात्रा सात सितंबर को पार्टी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ शुरू करने से दो दिन पहले हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: