19 अक्टूबर को मिलेगा कांग्रेस को नया अध्यक्ष

19 अक्टूबर को मिलेगा कांग्रेस को नया अध्यक्ष

वरिष्ठों की नाराजगी के चलते गांधी परिवार के बाहर का अध्यक्ष बनने की अटकलें , पार्टी रवैए से नाराज हैं पूर्व सीएम अशोक चौहान 

4 सितम्बर को महंगाई के खिलाफ केंद्र सरकार पर दिल्ली में हल्ला बोल

योगेश पाण्डेय – संवाददाता

मुंबई – कांग्रेस पार्टी के भीतर चाक रहे अंतर्कलह और वरिष्ठ नेताओं की नाराजगी के चलते लगातार पार्टी के खिलाफ ही रही बगावत पर पार्टी ने अब अंकुश लगाने का प्रयास किया है। हालांकि पार्टी के भीतर ही कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए जंग जारी है इस बीच पार्टी आलाकमान ने अध्यक्ष पड़ के चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है।

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए 17 अक्टूबर को वोटिंग होगी और 19 अक्टूबर को काउंटिंग की जाएगी। चुनावी शेड्यूल के मुताबिक 22 सितंबर को चुनाव संबंधी नोटिफिकेशन जारी होगा। 24 सितंबर से 30 सितंबर तक नॉमिनेशन किए जा सकेंगे। हालांकि अगर अध्यक्ष पद के लिए सिर्फ एक उम्मीदवार होता है तो ऐसी स्थिति में रिजल्ट की घोषणा 30 सितंबर को ही की जा सकती है।

रविवार को हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के बाद केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने यह जानकारी दी है। सीडब्ल्यूसी की बैठक में मौजूद सभी सदस्यों ने इस चुनाव शेड्यूल पर सहमति जताई। पार्टी नेता जयराम रमेश ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष पद के लिए कोई भी नामांकन दाखिल कर सकेगा। केवल हमारी पार्टी में ही यह लोकतंत्र देखने को मिलता है।

बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, केसी वेणुगोपाल, पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश, मुकुल वासनिक, पी चिदंबरम, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और जी-23 का हिस्सा रहे आनंद शर्मा मौजूद रहे। पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत कई नेता वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक में शामिल हुए।

कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत का नाम सबसे ज्यादा चर्चा में था। बताया जा रहा था कि खुद सोनिया गांधी ने उन्हें पार्टी अध्यक्ष बनने के लिए तैयार रहने को कहा था, लेकिन गहलोत ने अगले ही दिन ऐसी खबरों को खारिज कर दिया था। पिछले बुधवार को उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को फिर से पार्टी की बागडोर संभालने के लिए मनाने का अंतिम समय तक प्रयास करेंगे। गहलोत की टिप्पणी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के एक दिन बाद आई थी।

कांग्रेस कार्यसमिति सीडब्ल्यूसी की वर्चुअल मीटिंग से पहले महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चौहान के बगावती तेवर सामने आए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में कठपुतली अध्यक्ष बनाने की कोशिश की जा रही है, जिससे पार्टी बर्बाद हो जाएगी। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष पद के लिए चुनाव को टालना कत्ताई मुनासिब नहीं है।

अभी शुक्रवार को ही गुलाम नबी आजाद ने इस्तीफा देते हुए राहुल गांधी पर निशाना साधा था। आजाद ने 5 पन्नों की चिट्ठी में लिखा राहुल गांधी ने पार्टी में एंट्री के साथ ही सलाह के मैकेनिज्म को तबाह कर दिया। खासतौर पर जनवरी 2013 में उनके उपाध्यक्ष बनने के बाद तो पार्टी में यह सिस्टम पूरी तरह बंद हो गया। सभी वरिष्ठ और अनुभवी नेताओं को साइड लाइन कर दिया गया और गैर-अनुभवी चापलूसों का नया ग्रुप बन गया, जो पार्टी चलाने लगा।

कांग्रेस पार्टी ने 29 अगस्त को ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी और प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक बुलाई है। यह बैठक दिल्ली स्थित पार्टी हेडक्वार्टर में शाम 4 बजे होगी। कांग्रेस की इस बैठक में पार्टी की 3570 किलोमीटर भारत जोड़ो यात्रा अभियान पर चर्चा होगी, जो सात सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू होगी।

बैठक में भारत जोड़ो यात्रा अभियान के कोऑर्डिनेटर मौजूद रहेंगे। इसके अलावा एआईसीसी के महासचिवों, पीसीसी के अध्यक्षों को भी बैठक में शामिल होने के निर्देश दिए गए हैं। पार्टी ने इसके लिए एक लेटर जारी किया है।

4 सितंबर को दिल्ली में कांग्रेस की म​​​​​​​हंगाई पर हल्ला बोल रैली होगी। कांग्रेस के भारत जोड़ो यात्रा अभियान की शुरुआत राहुल गांधी के नेतृत्व में होगी। यात्रा तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू होगी, जो 12 राज्यों से होते हुए जम्मू-कश्मीर पहुंचेगी। बताया जा रहा है कि यात्रा में कांग्रेस के झंडे की जगह तिरंगा दिखाई देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: