मनसे विधायक का कैबिनेट विस्तार सहित अन्य मामलों को लेकर राज्य सरकार पर ट्वीटर हमला

मनसे विधायक का कैबिनेट विस्तार सहित अन्य मामलों को लेकर राज्य सरकार पर ट्वीटर हमला

राज्य की खस्ता हालत, सड़कों की मरम्मत और बढ़ती बीमारियों के हवाले से प्रमोद पाटिल ने सरकार पर साधा निशाना

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – महाराष्ट्र में शिवसेना से बगावत कर राज्य की सत्ता हथियाने के लगभग 40 दिनों बाद भी कैबिनेट विस्तार नहीं होने के चलते एक ओर जहां सभी विपक्षी दलों ने राज्य की शिंदे – फडणवीस सरकार पर राज्य की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए हमला करना शुरू कर दिया है, वहीं दूसरी ओर अब राज्य सरकार का समर्थन करने वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कल्याण ग्रामीण क्षेत्र से एकमात्र विधायक प्रमोद पाटिल ने नागरिकों की समस्याओं को लेकर राज्य में शिंदे सरकार की कड़ी आलोचना की है। शिवसेना में एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में विधायकों के विद्रोह के कारण राज्य की ठाकरे सरकार गिर गई और उसके बाद एकनाथ शिंदे समूह और भाजपा ने साथ मिलकर एक नई सरकार सत्ता में आई। अब लगभग डेढ़ महीना हो गया है। लेकिन अभी तक कैबिनेट का विस्तार नहीं किया गया है। इसलिए विपक्षी दल मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस की लगातार आलोचना कर रहे हैं, अब मनसे विधायक प्रमोद पाटिल ने भी इसी पृष्ठभूमि में शिंदे सरकार पर जमकर निशाना साधा है।

मनसे विधायक प्रमोद पाटिल ने सरकार पर टिप्पणी करते हुए ट्विट किया कि विद्रोह हुआ, अब अच्छा है? महानगर पालिका में पार्षद नहीं हैं, जिले का संरक्षक मंत्री नहीं है, राज्य का कोई मंत्री नहीं है, मंत्रालय फिर से सचिवालय हो गया, सब ठप पड़ा है। तुम ठीक हो, लेकिन लोगों के त्योहार आ गए हैं, सड़क पर गड्ढे, ट्रैफिक जाम, बीमारियां बढ़ती जा रही हैं। इसे कौन देखेगा ?

विधायक प्रमोद पाटिल ने ठाणे में ट्रैफिक जाम और गड्ढों समेत विभिन्न समस्याओं को लेकर राज्य सरकार का घेराव किया है। पिछले कुछ दिनों से नागरिक इन समस्याओं से काफी परेशान हैं, साथ ही बरसात के मौसम के कारण बीमारियों के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। इस वजह से इन मुद्दों को जल्द से जल्द सुलझाने और राज्य की जानता के हित के लिए जिम्मेदार मंत्रियों और नगरसेवकों की जरूरत है।

खास बात यह है कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कल्याण ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्र के विधायक प्रमोद (राजू) पाटिल, जिन्होंने कल से एक दिन पहले तक डोंबिवली-कल्याण लोकसभा क्षेत्र में सांसद श्रीकांत शिंदे की आलोचना करने का कोई मौका नहीं छोड़ा, ने विश्वास प्रस्ताव के दौरान शिंदे के पक्ष में मतदान किया। शिंदे सरकार का प्रस्ताव, ठाणे जिले में नए राजनीतिक समीकरणों को जन्म दे रहा है, ऐसा होने की भविष्यवाणी की जा रही है। इन नए घटनाक्रम की पृष्ठभूमि में खबरें आ रही हैं कि राजू पाटिल और सांसद शिंदे में सुलह हो गई है और मनसे को नए मंत्रिमंडल में जगह मिलने की संभावना है।

मनसे विधायक होने के बावजूद, मनसे विधायक प्रमोद पाटिल ने मनसे प्रमुख राज ठाकरे के निर्देश पर बिना किसी झिझक और संयम के राज्य, विधान परिषद, राज्यसभा चुनाव में सत्ता के खेल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यह कनेक्शन भविष्य में भी जारी रहना चाहिए। पावर प्ले में एक मनसे विधायक थे। फिर भी, मनसे को मंत्री पद दिया गया। मालूम हो कि शिंदे सरकार में मनसे को भाजपा कोटे से मंत्री पद देने के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने यह सोचकर तगड़ी तैयारी की है कि यह संदेश मनसे कार्यकर्ताओं के साथ-साथ जन-जन तक भी पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: