पुलिस की उदासीनता से परेशान रिक्शा चालक ने पुलिस थाने के बाहर खुद को लगाई आग

पुलिस की उदासीनता से परेशान रिक्शा चालक ने पुलिस थाने के बाहर खुद को लगाई आग

नारपोली पुलिस पर लगाया निष्क्रियता का आरोप। पुलिस जांच में फाइनेंस कंपनी द्वारा रिक्शा जब्त करने का हवाला

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

भिवंडी – वाहन चोरी के एक वर्ष पुराने मामले में अभी तक पुलिस द्वारा कोई ठोस एक्शन नहीं लिए जाने के चलते एक ऑटोरिक्शा चालक ने सोमवार रात को पुलिस थाने के बाहर अपने आप को जलाकर अपनी जीवन लीला समाप्त करने का प्रयास किया। घटना भिवंडी के नरपोली पुलिस थाने की है। सोमवार रात एक व्यक्ति ने एक रिक्शा चोरी होने और पुलिस द्वारा उचित सहयोग नहीं करने का आरोप लगाकर खुद को आग लगा ली। नारपोली पुलिस ने बताया कि उक्त व्यक्ति का रिक्शा चोरी नहीं हुआ बल्कि फाइनेंस कंपनी किस्त नहीं जमा होने के चलते उसे जब्त कर लिया गया था। पुलिस ने बताया कि व्यक्ति का स्थानीय इंदिरा गांधी अस्पताल में इलाज चल रहा है और उसकी हालत स्थिर है।

भिवंडी में एक रिक्शा चालक ने पिछले साल नारपोली पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसका रिक्शा चोरी हो गया है। एक साल से लगातार पुलिस ठाणे का चक्कर लगा रहा रिक्शा चालक सोमवार एक अगस्त की रात नारपोली पुलिस थाने आया। इसी दौरान वह पुलिस से अपने चोरी हुए ऑटोरिक्शा को लेकर पुलिस से बहस करने लगा, साथ ही पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 पर भी संपर्क किया। इसके बाद वह थाने के बाहर आया और अपने शरीर पर ज्वलंत पदार्थ डालकर खुद को आग लगा लिया। पुलिस ने तुरंत उसे रोका और अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने बताया कि संबंधित व्यक्ति 22 प्रतिशत झुलस गया और उसकी हालत स्थिर है। इस बीच पुलिस ने यह भी बताया कि रिक्शा चोरी मामले की जांच में पता चला है कि फाइनेंसिंग कंपनी में किस्त का भुगतान समय पर नहीं होने के चलते फाइनेंस कंपनी ने उसका रिक्शा जब्त कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: