हर मैदान में उद्धव ठाकरे को चुनौती देगी शिंदे सरकार

हर मैदान में उद्धव ठाकरे को चुनौती देगी शिंदे सरकार

मविआ के समर्थक और ठाकरे के करीबी मनपा अधिकारियों के तबादले 

योगेश पाण्डेय – संवाददाता 

मुंबई – महाराष्ट्र की नई सरकार ने कल ही विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव हासिल करने के तुरंत बाद ही उद्धव सरकार के करीबी सरकारी मुलाजिमों पर शिकंजा कसने कि प्रक्रिया की जोरदार शुरुआत कर दी है। इससे सबसे बड़ा झटका उद्धव ठाकरे के पुत्र और पूर्व पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे को लगा है। आदित्य के करीबी माने जाने वाले मुंबई महानगर पालिका दादर जी-उत्तर मंडल की सहायक आयुक्त किरण दिघावकर का तबादला भायखला ई मंडल में कर दिया गया है। इस बीच, अंधेरी के-पूर्व डिवीजन के सहायक आयुक्त प्रशांत सपकाले को दादर जी-नॉर्थ डिवीजन में स्थानांतरित कर दिया गया है, जबकि भायखला ई डिवीजन के सहायक आयुक्त मनीष वालूंज को अंधेरी के-ईस्ट डिवीजन में स्थानांतरित कर दिया गया है।

इन सहायक आयुक्तों के तबादले को लेकर महानगर पालिका आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने सर्कुलर जारी किया है। कहा जाता है कि इन तबादलों के चलते किरण दिघावकर से बड़ा झटका शिवसेना को लगा है। दिघावकर के पास महानगर पालिका के योजना विभाग की अतिरिक्त जिम्मेदारी भी थी। पिछले एक साल में, दिघावकर ने बेस्ट के ‘ग्रीन बस स्टॉप’ को कार्यान्वित करने में अहम भूमिका निभाई है, जिसमें आदित्य ठाकरे के पार्क, थीम गार्डन, हेरिटेज फुटपाथ, दादर व्यूइंग डेक, माहिम किला पुनरुद्धार, दादर, माहिम चौपाटी का सौंदर्यीकरण और पर्यावरण संदेश की अवधारणा शामिल है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अवधारणा से शिवाजी पार्क सौंदर्यीकरण परियोजना का काम भी पूरा किया है। उन्होंने धारावी क्षेत्र में कोरोना को नियंत्रण में लाने के लिए महत्वपूर्ण कार्य किया है और इस धारावी पैटर्न की हर जगह सराहना हुई है।

आदित्य ठाकरे को जहां इस साल पीओपी की गणेश प्रतिमाओं को अनुमति देने का दिघावकर का फैसला पसंद आया, वहीं मुंबई महानगर पालिका का बड़ा फैसला दादर – महिम के विधायक सदा सरवनकर जो अब शिंदे गुट में हैं को नागवार गुजरा था। दिघावकर की सदन की नेता विशाखा राउत से भी अच्छी दोस्ती थी। महानगर पालिका ने हाल ही में शिवाजी पार्क स्थित भगोजीशेठ कीर कब्रिस्तान में कार्यशाला में सरवनकर द्वारा किए गए कुछ निर्माण कार्यों के खिलाफ कार्रवाई की है। सरवणकर के मुताबिक यह कार्रवाई दिघावकर ने संजय राउत के निर्देश पर की थी। कहा जाता है कि दिघावकर के तबादले के पीछे सरवणक का हाथ है।

तबादले पर बोलते हुए किरण दिघावकर ने कहा कि जी-नॉर्थ डिवीजन में तीन साल तक काम किया। प्रशासनिक कार्यों में आम नागरिक शामिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना धारावी मॉडल, टीकाकरण केंद्र में पहला अभियान, शिवाजी पार्क मैदान में वर्षा जल संचयन, माहिम किले का सौंदर्यीकरण, सीएसआर से मलिन बस्तियों में टीकाकरण जैसे कार्यों को जनता की सहायता से ही पूरा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: