रेलवे पुलिस ने पकड़ा 7 लाख का गुटखा

रेलवे पुलिस ने पकड़ा 7 लाख का गुटखा

गुजरात के रास्ते ट्रेन द्वारा मुंबई लाया गया प्रतिबंधित गुटखा मुंबई सेंट्रल पर जब्त

मुंबई – महाराष्ट्र सरकार द्वारा गुटखे और सुगंधित पान मसाला पर पाबंदी के बावजूद राज्य में इसका कारोबार बदस्तूर जारी है। जिसके चलते नवयुवकों में इसका खासा क्रेज देखने को मिलता है। महाराष्ट्र में गुटखे पर भले ही पाबंदियां है परन्तु पड़ोसी राज्य गुजरात में इसका कारोबार धड़ल्ले से चालू है। महाराष्ट्र के कुछ व्यापारी इसे पड़ोसी राज्य गुजरात से चोरी छुपे लाकर यहां मोटी कमाई करते है। पुलिस को सूचना मिली थी कि मुंबई समेत राज्य के विभिन्न हिस्सों में गुटखा और सुगंधित पान मसाला अवैध रूप से बेचा जा रहा है। रेलवे पुलिस ने मुंबई सेंट्रल टर्मिनस पर जाल बिछाकर 7.30 लाख रुपये की प्रतिबंधित सुगंधित पान मसाला जब्त कर लिया है।

महाराष्ट्र में प्रतिबंधित गुटखा और पान मसाले बड़ी मात्रा में खरीदे और बेचे जा रहे हैं। पुलिस को सूचना मिली थी कि गुजरात से रेल द्वारा प्रतिबंधित सुगंधित पानमसाला लाया जा रहा है। मुंबई सेंट्रल रेलवे पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक केदारी पवार ने रेलवे पुलिस आयुक्त कैसर खालिद के निर्देश पर दो दस्ते बनाए थे और गश्त बढ़ा दी थी। रेलवे पुलिस को 28 जून को सूचना मिली थी कि जयपुर सुपरस्टार एक्सप्रेस के पार्सल बॉक्स से प्रतिबंधित पान मसाला लाया जा रहा है।

तदनुसार, पश्चिम रेलवे के मुंबई सेंट्रल टर्मिनस और दादर टर्मिनस पर एक-एक दस्ते को तैनात किया गया था। एक्सप्रेस जैसे ही मुंबई सेंट्रल रेलवे टर्मिनस के प्लेटफॉर्म नंबर दो पर पहुंची, तुरंत उसकी की जांच की गई। कोटा से सूरत और सूरत से मुंबई भेजे गए माउथ फ्रेशनर के पार्सल बॉक्स में से प्रतिबंधित पान मसाला निकला। रेलवे पुलिस ने ट्रेन से लाए गए 19 डब्बों में से 7 लाख 29,600 रुपये कीमत का सुगंधित पान मसाला जब्त किया है।

मुंबई सेंट्रल रेलवे पुलिस स्टेशन में खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 और भारतीय दंड संहिता के तहत मामला दर्ज किया गया है। और पार्सल भेजा और पाने वालों की तलाश की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

पुलिस महानगर न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 7400225100,8976727100
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: